MPEB गुमाश्ता नगर जोन में नहीं रुक रहे बड़े राशी और गड़बड़ी वाले बिलों के मामले

Spread the love

MPEB गुमाश्ता नगर जोन में नहीं रुक रहे बड़े राशी और गड़बड़ी वाले बिलों के मामले,

किसी भी महीने सही रीडिंग नहीं ली गई और लगभग हर महीने अनुमानित रीडिंग के भेज गए बिल

वेसे तो इंदौर शहर के MPEB के हर जोन में आपको 60% – 80% मीटर रीडर द्वारा रीडिंग ठीक से रीडिंग न लेने की वजह से उपभोगता को सही बिल न आने की समस्या आने का तो सुना ही होगा पर MPEB गुमाश्ता नगर जोन इस मामले में सबसे आगे है और इस जोन के AE Mr.Rakesh Upadhyay और JE Mr.Pawan Patidar इस जोन के मीटर रीडर्स के द्वारा हो रही गड़बड़ियो पर लगाम लगाने में भी असमर्थ है | उपभोगता के शिकायत करने या उनके कर्मचारियों की गड़बड़ी बताने पर उन्हें अनदेखा करते है और अपने कर्मचारियों की गलती छुपाने के लिए उल्टा उपभोगता से अभद्र व्यवहार भी किया जाता है | जेसा की आप जानते है हमारी इस वेबसाइट पर उन्ही बिल्स को पब्लिकली शेयर करते है जो उपभोगता स्यमं हमे बिल्स भेजते है पर ऐसे हजारो बिल्स है जो हमारे पास नहीं आते और किसी को इस तरह की गड़बड़ी के बारे में पता नहीं चलता |

MPEB गुमाश्ता नगर जोन में मीटर रीडिंग का एक और मामला सामने आया है जिसमे मीटर रीडर महीनो से सही रीडिंग नहीं ले रहा है और एवरेज रीडिंग के बिल भेज रहे है | इस केस में सितम्बर माह के बिल में पिछली वाचन रीडिंग “1020” और वर्तमान वाचन रीडिंग “1098” दिखा रहा है और सितम्बर माह की खपत “78” दिखा रहा है जिसके साथ में “1614” की आंकलित खपत भी दिखा रहा है और जबकि मीटर में “1098” तो टोटल रीडिंग ही है तो बिल में “1614” की आंकलित खपत केसे आ सकती है | जब उपभोगता ने इस गड़बड़ी की शिकायत झोन के AE Mr.Rakesh Upadhyay और JE Mr.Pawan Patidar से की तो उनका उपभोगता से यह कहना था के बिल हमारे हिसाब से आता है | बिल में साफ-साफ़ गड़बड़ी दिखने के बाद भी विद्दयुत विभाग के अधिकारी उपभोगता की मदद करने के बजाये उसे अभद्र व्यव्हार करने और दादागिरी दिखने से बाज नहीं आते |

हमारी इस वेबसाइट पर सबसे ज्यादा गड़बड़ी वाले बिल,ज्यादा राशी के बिल और अनुमानित मीटर रीडिंग के सबसे जयादा केस MPEB गुमाश्ता नगर जोन से आते है और इस जोन के AE Mr.Rakesh Upadhyay और JE Mr.Pawan Patidar इस जोन के मीटर रीडर्स के द्वारा हो रही गड़बड़ियो पर लगाम लगाने में भी असमर्थ है |

(Visited 613 times, 1 visits today)

2 thoughts on “MPEB गुमाश्ता नगर जोन में नहीं रुक रहे बड़े राशी और गड़बड़ी वाले बिलों के मामले”

Leave a Reply